सावन के महीने में भूलकर भी न खाएं ये 6 चीज़े, वरना भगवान शिव हो जाएंगे नाराज

जैसे की सावन का महीना चल रहा है सावन का महीना भगवान शिव की आराधना का महीना कहलाता है। इस महीने में जो भी सच्चे दिल से शिव की आराधना करता है उसकी हर मोनकामना पूरी हो जाती है।

ऐसे में अगर पूजा-अर्चना के साथ-साथ खाने पीने का ख्याल भी रखा जाए तो फिर आपकी प्रार्थना व्यर्थ नहीं होगी।

बल्कि आपका स्वास्थ भी अच्छा रहेगा पहले जमाने के लोग सावन के महीने में कुछ चीजों को खाने से मना करते थे।

जिससे की भगवान शंकर नाराज ना हो वहीं पर आज के दौर में भी लोग बारिश के मौसम से काफी चीजों से जोड़ देते हैं। ताकि लोग अपने स्वास्थ को लेकर इन खाद्य पदार्थों का सेवन न कर सके।

चलिए बताते है कि सावन में क्या नहीं खाएं जिनसे शिव भक्ति में कोई भी विघ्न ना पड़ें।

वैसे तो सावन के पूरे महीने में बारिश होती ही रहती है। इन दिनों डेंगू, हैजा, मलेरिया, चिकनगुनिया जैसी बीमारियां भी काफी अधिक होती हैं इसीलिए इस महीने अपने खान-पान पर सभी को खास सावधानी रखनी चाहिए।

बैंगन

baigan

शास्त्रों के अनुसार बैंगन को अशुद्ध कहा गया है अधिकतर पवित्र दिनों में बैंगन का यूज़ नहीं करना चाहिए वैसे भी इस मौसम में बैंगन में की़ड़ें भी काफी ज्यादा निकलते हैं।

दही

dahi

सावन के महीने में भूल से भी दही का यूज़ नहीं करना चाहिए क्योकि इससे खांसी-जुकाम भी हो सकता हैं।

साग

saag

शास्त्रों के कहे अनुसार, सावन के महीने में साग खाने को भी मना किया गया है। ऐसा कहा जाता है कि सावन में साग खाने से सेहत पर काफी बुरा असर पड़ता है।

मांस मदिरा

meat and drink

सावन के महीने में मांसाहार से खास दूरी रखनी चाहिए। क्योकि इस मौसम में मीट में बहुत ज़्यादा संक्रमण होता है इसलिए मांसाहार खाने से बचना चाहिए।

कच्चा दूध

kachcha doodh

सावन के महीने में कच्चे दूध का प्रयोग करने से बचना चाहिए। क्योकि इससे वात संबंधी रोग हो सकते हैं इस वजह से सावन के महीने में भगवान शिव का दूध से अभिषेक करने को कहा गया है।

प्याज लहसुन

lehsun pyaz

ये तामसिक भोजन है और इसका सेवन करने से बॉडी में आलस आता है।