ऐतिहासिक फैसला, दो बार फेल होने पर भी अब कर सकेंगे स्कूल में रेग्युलर पढ़ाई

दिल्ली हाईकोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए दिल्ली सरकार को एक 11वीं के छात्र को फिर से सरकारी स्कूल में दाखिला लेने के दिए आदेश।

दिल्ली हाईकोर्ट के जज संजीव सचदेवा ने ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए दिल्ली सरकार को एक 11वीं के छात्र को फिर से सरकारी स्कूल में दाखिला लेने के आदेश दे दिए हैं। इस आदेश के बाद से अब दो बार फेल छात्र भी रेग्युलर पढ़ाई कर सकेंगे। छात्र के द्वारा दायर की गई याचिका पर हाईकोर्ट ने यह आदेश दिया है।

याचिकाकर्ता ने हाईकोर्ट से परमादेश की मांग करते हुए ये अपील की थी कि उसे 2016-17 के सन में फिर से प्रवेश करने की अनुमति दी जाय। दरअसल याचिकाकर्ता  के वकील अशोक अग्रवाल ने बताया है कि छात्र पिछले दो वर्षों से 11वीं कक्षा में फेल हो रहा था। स्कूल ने तीसरी बार एडमिशन करने से मना कर दिया। वकील ने दलील दी कि छात्र का पिता नाई है और मां गृहिणी हैं। परिवार की आर्थिक स्थिति भी सही नहीं होने की वजह से ही छात्र परीक्षा में फेल हो रहा है, लेकिन उसकी इच्छा पुन: प्रवेश लेकर पढऩे की है।

फिर मिलेगा प्रवेश

हालांकि, शिक्षा निदेशालय के द्वारा जारी सर्कुलर के तहत सन 2014-15 के बाद नौवीं और बारहवीं में फेल हुए छात्र यदि पहली बार परीक्षा में फेल होते हैं तो सरकारी स्कूल उसे फिर से प्रवेश देगी, लेकिन अगर छात्र दूसरी बार भी फेल हो जाता है तो वह पत्राचार विद्यालय में प्रवेश लेकर अपनी पढ़ाई जारी रख सकता है

पढ़े:  सिर्फ 8 रुपए’ के चक्कर में गंवाई अपनी जान

पढ़े:  सऊदी सरकार ने कफ़ील और कंपनियों पर कसी लगाम; जानिए कितना जुर्माना लगेगा किस गलती पर

पढ़े:  सऊदी जाने वालों के लिए किंग सलमान लेबर मंत्रालय ने चेतावनी जारी की