छोटे बच्‍चों को भूलकर भी न खिलाएं ये 5 फूड, वरना बच्‍चे को हो सकती है गंभीर समस्‍या

जरूरी है कि आप बच्चों को ऐसे खाद्य पदार्थ ना दें जिनसे उनका गला चोक हो जाए, जैसे कि ज्यादा छिलके वाले या चिपचिपे फूड्स। यहां कुछ ऐसे खाद्य पदार्थों के बारे में बताया गया है, जिन्‍हें अपने नवजात शिशुओं को देने से बचना चाहिए।

नवजात शिशुओं क्‍या न खिलाएं

बच्चों के मामले में आपको हर चीज को लेकर सतर्क रहना पड़ता है चाहे वह उनके खान पान से संबंधित हो या उन्हें पढ़ाने या खिलाने से। कुछ चीजें ऐसी होती हैं जिन्हे खिलाने पर आपके बच्चे का गला खराब हो सकता है या उनकी सेहत के लिए वह चीजें अनुचित होती हैं। इसलिए आपको कुछ चीज़ें अपने एक से तीन साल के बच्चों को खिलाने से अवॉयड करनी चाहिए। बढ़ते बच्चों के लिए प्रोटीन व पौष्टिक खाना बहुत जरूरी होता है इसलिए उन्हें केवल वही चीजें खिलाएं जो उनके लिए लाभदायक हों।

कच्चे व क्रीमी डेयरी उत्पाद

कुछ टाइप का चीज या दूध और अन्य डेयरी उत्पाद आपको बच्चों से दूर रखने चाहिए। इनसे आपके बच्चे बीमार हो सकते हैं या उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाने की भी नौबत आ सकती है। इसलिए यदि आप दूध आदि चीजें बच्चों को दे रहे हैं तो उन्हें उबाल कर ही दें।

चैरी या बड़े अंगूर

फल खिलाने बच्चों के लिए फायदेमंद हो सकते हैं पर यदि आप फलों के बड़े बड़े टुकड़े या जो फल बड़े हैं जैसे बड़े अंगूर या चैरी अपने बच्चों को खिलाते हैं तो इससे उन्हें गले में तकलीफ हो सकती है अर्थात उनका गला चोक भी सकता है। इसलिए हमेशा अपने बच्चों को फल खिलाते समय उसे पहले छोटे छोटे हिस्सों में काट लें और तब ही बच्चों को दें।

च्युइंग गम या टॉफी

च्युइंग गम, टॉफी या कैंडी आदि चीजें खिलाने पर आपके बच्चों के गले में यह चीजें अटक सकती हैं। वह च्युइंग गम को निगल भी सकते हैं। इसके कारण बच्चों को गैस्ट्रो इंटेस्टिनल समस्याएं हो सकती हैं। इसलिए ऐसा करने से बचें।

मूंगफली या पीनट बटर

बहुत से बच्चों जिनकी उम्र 5 साल से कम होती है उन्हें मूंगफली जैसे नट्स से एलर्जी होती है इसलिए आपको उन्हें इस प्रकार की चीजें खाने के लिए नही देनी चाहिए। अगर आप अपने बच्चों को इस प्रकार की चीजें खिलाना भी चाहते हैं तो उन्हें पहले थोड़ी मात्रा में दे कर चेक कर लें।

अंडे

बहुत से लोग यह भी कहते हैं कि बच्चे तब से अंडा खाना शुरू कर सकते हैं जब वह 6 महीने के होते हैं लेकिन जरूरी नहीं है कि यह एक सुरक्षित चॉइस हो। इससे आपके बच्चे को उल्टियां हो सकती हैं या इरीटेशन हो सकता है। आपको कच्चे अंडे भी अपने बच्चों को नहीं खिलाने चाहिए। उनसे भी बच्चों को एलर्जी आदि जैसी समस्या हो सकती है।