मेरठ में 10वीं की छात्रा के गैंगरेप का आरोपी कस्टडी से बंदूक छीनकर भागा, मुठभेड़ में लगी गोली

मेरठ के एक गांव में ट्यूशन से लौट रही कक्षा 10 की छात्रा को गांव के युवकों ने कथित तौर पर अगवा कर उसके साथ गैंगरेप किया. पीड़िता ने घर पहुंचकर अपने परिवार को यह बात बताई और बाद में जहर खा लिया, इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.

उत्तर प्रदेश के मेरठ में थाना सरधना कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में ट्यूशन से लौट रही कक्षा 10 की छात्रा को गांव के ही युवकों ने कथित तौर पर अगवा कर सामूहिक दुष्कर्म किया था, आहत छात्रा ने घर पहुंचकर कथित रूप से जहरीला पदार्थ खा लिया था जिससे अस्पताल में उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई थी. पुलिस ने इस मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया था. आरोपियों को आज कोर्ट में पेश करने ले जाया जा रहा था जहां वो कस्टडी से भाग निकले, हालांकि, पुलिस ने उन्हें फिर गिरफ्तार कर लिया.

इस मामले में हैरान करने वाला अपडेट सामने आया है. सरधना थाना पुलिस दोनों आरोपियों को शनिवार को कोर्ट में पेश करने के लिए ले जा रही थी, तभी मुख्य आरोपी पुलिस कस्टडी से भाग निकला. सूचना फ़्लैश होने पर मेरठ की सर्विलांस टीम व सरधना थाना पुलिस की कपसाड गांव में आरोपी की तलाश में कॉम्बिंग की. 

यहां पर मुठभेड़ के बाद आरोपी लखन गिरफ्तार कर लिया गया. जानकारी है कि आरोपी ने पुलिस पर फायरिंग भी की. पुलिस की जवाबी फायरिंग में आरोपी के पैर में गोली लगी. पुलिस ने आरोपी को कस्टडी में अस्पताल में भर्ती कराया है.

एसपी देहात केशव कुमार ने बताया कि ‘कल सरधना में एक 10वीं की छात्रा ने गैंगरेप के बाद आत्महत्या कर ली. गैंगरेप करने वाले भी लड़की के साथ ट्यूशन में पढ़ते थे. मुख्य आरोपी लखन और विकास को पकड़ लिया गया है. गैंगरेप और अन्य धाराओं के तहत मुक़द्दमा दर्ज कर लिया गया है. एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है जिसमें लड़की ने लखन का नाम लिखा है और ज़बरदस्ती करने की बात लिखी है. दोनों आरोपी बालिग हैं.’

उन्होंने शनिवार की घटना पर बताया कि ‘आज दोनों आरोपियों को कोर्ट ले जा रहे थे. वहां से आरोपी पुलिस के एक इंस्पेक्टर की बंदूक़ लेकर भाग निकले. बाद में कॉम्बिंग की गई. इस दौरान आरोपियों ने पुलिस पर गोली चलाई. पुलिस ने भी गोली चलाई जिसमें आरोपी लखन के पैर में गोली लगी है. उसका अस्पताल में इलाज कराया जा रहा है.’

उधर, सरधना पुलिस ने छात्रा के परिजनों की तहरीर के आधार बताया कि किशोरी 10वीं की छात्रा थी और गुरुवार को घर से ट्यूशन पढ़ने के लिए गई थी. पुलिस के अनुसार ट्यूशन से लौटते समय छात्रा को कपसाड़ गांव निवासी चार युवकों ने अगवा कर लिया और टावर के पास मकान में बंधक बना सामूहिक दुष्कर्म किया.

पुलिस ने बताया कि छात्रा किसी तरह अपने घर पहुंची और परिजनों को घटना की जानकारी दी. बाद में आहत छात्रा ने घर पर जहरीला पदार्थ खा लिया, जिससे उसकी हालत बिगड़ गई और उसे शाम करीब छह बजे मोदीपुरम के एसडीएस ग्लोबल अस्पताल में भर्ती कराया गया. पुलिस के अनुसार यहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई.