आगरा: बंदरों की नसबंदी हुई शुरू, अगर लगाम नहीं लगा तो 6 साल में 2.16 लाख हो जाएंगे

आगरा: मुहब्बत की नगरी आगरा में इन दिनों बंदरों का इतना ज्यादा आतंक है कि हर कोई इन से खौफ खा रहा है| बंदरों के आतंक वजह है इसकी संख्या का लगातार बढ़ते रहना लेकिन अब प्रशासन इस संख्या को कंट्रोल करने के लिए बंदरों की नसबंदी और टिकाकरण का अभियान चला रहा है|

अगर आकड़ों की माने तो इस वक्त आगरा में बंदरों की आबादी 8000 से भी ज्यादा  है एक्सपर्ट का ये कहना है कि अगर इसी रफ्तार से बंदरों की संख्या में इजाफा होता रहा तो अगले 6 सालों में ये आंकड़ा 2.16 लाख के भी पार चला जाएगा|

इस इजाफे की वजह आगरा का धर्मस्थली होना है क्योकि यहां पर बड़ी संख्या में लोग मंदिरों में पूजा-पाठ और घूमने के लिए भी आते है

Leave a Comment