नव वर्ष पर धार्मिक स्थलों पर रही भीड़ ,श्री माता मनसा देवी मंदिर में 75 हजार श्रद्धालुओं ने टेका माथा

 माता मनसा देवी मंदिर में मां के दर्शन कर नव वर्ष की शुरूआत करने के लिए इस बार 75 श्रद्धालुओं ने माता के दरबार में पहुंच कर शीश झुकाया। जानकारी के मुताबिक नव वर्ष लोगो के परिवार के लिए खुशिया लेकर आए इसी मनोकामना लेकर वीरवार रात से ही श्रद्धालुओं की भीड़ माता मनसा देवी के मंदिर में जुटनी शुरू हो गई जोकि माता के दर्शन कर आशीर्वाद लेने के लिए आए हुए थे। भीड़  शुक्रवार दिन भर मंदिर परिसर में पहुंच कर मां के दर्शन करने के लिए आती रही। सूत्रों के मुताबिक 75  हजार से ऊपर श्रद्धालुओं ने मां के दर्शन किए। मंदिर में दर्शन करने के लिए आए कई लोगों ने बताया कि भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पु ता प्रबंध न होने के कारण वह माता के दर्शन करने से वंचित रह गई और माता को बाहर से ही प्रणाम कर अशीर्वाद लेकर घर लौट आई। इसी प्रकार माथा टेकने के लिए अंबाला की कृति सिंगला ने कहा कि वह घंटो लाईन में लग कर माथा टेक पायी लेकिन कुछ लोग मंदिर के अन्य द्वारो से ऐसे ही माथा टेकने के लिए आते रहे जिसके कारण मंदिर परिसर में अवयवस्था फैल गई और लोगों को मां के दर्शन करने में परेशानी पेश आई। उन्होने कहा कि वह परिवार समेत माथा टेकने आए थे और मां के दर्शन कर खुश है।


श्री माता मनसा देवी पूजा स्थल बोर्ड के कार्यकारी अधिकारी एमएस यादव अधिकारियों ने बताया कि हर साल 31 दिसंबर और एक जनवरी को हजारों लोग मां के दर पर आते हैं। इस वीरवार व  शुक्रवार को हजारोंं की तादाद में श्रद्धालु पहुंचे। उन्होंने कहा कि यहां हरियाणा पुलिस के द्वारा भी सुरक्षा के पु ता प्रबंध किए गए थे। उन्होंने ने कहा कि शुक्रवार को 75 हजार श्रद्धालु मां के द्वार पहुंचे।

नाढा साहब गुरूद्वारे में दर्शन के लिए पहुंची संगत
शुक्रवार को नव वर्ष की पहले दिवस के मौके पर गुरूद्वारा नाढा साहब में भी हजारों की तादाद में संगत पहुंची और लोगों ने गुरू घर में शीश निवाया। इस मौके पर लंगर भी लगाए गए थे।
कुहणी साहब गुरूद्वारे में श्रद्धालुओं ने भी झुकाया शीश

मनसा देवी मार्ग पर स्थित गुरूद्वारा कुहणी साहब में भी हजारों की तादाद में श्रद्धालुओं ने पहुंंच कर शीश निवाया। यहां पर संगत के लिए लंगर का प्रबंध भी किया जाता है जिसे हजारों की तादाद में पहुंंची संगत ने लंगर छका और वाहेगुरू के आगे नव वर्ष सुखमई बीते इसके लिए अरदास कर आर्शीवाद लिया।

राज्यपाल की पत्नी ने भी मंदिर में टेका माथा
पंचकूला। शुक्रवार को हरियाणा प्रदेश के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य की पत्नी सरस्वति देवी ने मंदिर परिसर में पहुंच कर मां के आगे शीश निवाया और देश व प्रदेश की खुशहाली की कामना की। इस अवसर पर उन्होंने प्रदेशवासियों को नव वर्ष की शुभकामनाएं दी और सभी प्रदेश वासियों के सुख-स्मृद्धि और यश की कामना की।  

Leave a Comment