Home स्वास्थ जानिए: दाढ़ी रखने के कारण और फायदे

जानिए: दाढ़ी रखने के कारण और फायदे

SHARE

नई दिल्ली: आमतौर पर बढ़ी हुई दाढ़ी को लोग बेहतर नहीं मानते इसलिए वो क्लीन शेव रहना पसंद करते हैं, लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि जो लोग अपने चेहरे पर घनी दाढ़ी रखते हैं वो कई बीमारियों से खुद को दूर कर लेते हैं। कम से कम ताजा अध्ययन तो यही कहता है। यह अध्ययन अमेरिका के एक अस्पताल में किया गया है।

आम धारणा क्या कहती है:

जैसा कि दाढ़ी चेहरे के हर हिस्से पर उगती है और दाढ़ी के बालों की बनावट अलग होती है उसमें एक अजीब तरह का घुमाव होता है। कुछ लोगों का दावा है कि दाढ़ी न सिर्फ चेहरे पर एक अलग तरह की इरिटेशन को जन्म देती है बल्कि दाढ़ी में ऐसे अनचाहे बग भी पनपते हैं जो स्वास्थ्य के लिए मुश्किलें खड़ी कर सकते हैं। यानी दाढ़ी हमारी सेहत के लिए हानिकारक होती है।

जिन लोगों में दाढ़ी को लेकर एक अलग तरह का भय रहता है उनके इस भय को न्यूयॉर्क में हाल ही में हुए एक शोध ने और बल दे दिया था जिसमें बताया गया कि घनी दाढ़ी में बैक्टीरिया का मल मौजूद रहता है। ऐसा माना जाता है कि कुछ लोगों की दाढ़ी में टॉयलेट सीट से ज्यादा बैक्टीरिया होते हैं। वहीं अमेरिका के एक अस्पताल में किया गया एक अध्ययन इससे एकदम उलट कहानी कहता है।

क्या कहता है अमेरिका के एक अस्पताल में किया गया शोध:

अमेरिका के एक अस्पताल में किया गया शोध जर्नल्स ऑफ हास्पिटल इन्फेक्शन में छपा है। अस्पताल के करीब 408 स्टॉफ के चेहरे को क्लीन शेव किया गया। ऐसा करने का एक उचित कारण भी था। हम सभी जानते हैं कि अस्पताल एक ऐसी जगह होती है जहां पर इन्फेक्शन सबसे ज्यादा होता है।

अस्पताल ही ऐसी जगह होती है जहां एक हांथ से दूसरे हांथ में बैक्टीरिया आसानी से विचरण करते रहते हैं। हांथ, सफेद कोट, टाई और इक्विपमेंट इन सभी को बैक्टीरिया के संक्रमण के लिए जिम्मेदार ठहराया जाता है, लेकिन दाढ़ी के बारे में लोग कम ही बोलते हैं।

शोधकर्ता यह जानकर हैरान रह गए कि क्लीन शेव लोगों को दाढ़ी रखने वालों की तुलना में चेहरे पर थोड़ा अजीब सी अनचाही तकलीफ महसूस हुई। जिन लोगों ने दाढ़ी नहीं रखी थी उनके क्लीन शेव चेहरे पर मिथाइसिलिन रेसिसटेंस स्टॉफ एनारस के होने की तीन गुना ज्यादा संभावना पाई गई।

यह अस्पताल में एक आम परेशानी और मुश्किल का स्त्रोत होता है क्योंकि यह तमाम एंटीबायोटिक्स के लिए प्रतिरोधकता रखता है।

शोधकर्ताओं ने माना कि शेव्ड चेहरे पर ऐसी सूक्ष्म खरोचें होती हैं जो बैक्टीरिया को पनपने का पर्याप्त स्थान दे देती हैं। लेकिन दाढ़ी ऐसे बैक्टीरिया से होने वाले संक्रमण से रोकती है।

दाढ़ी रखने के फायदे

beard with mooch

पुरुष को हैंडसम दिखाने मे दाढ़ी अहम भूमिका निभाती है. शेविंग करने में आपका समय और खर्च तो लगता ही है, यहां देखिए दाढ़ी रखना आपकी सेहत के लिए भी कितना फायदेमंद साबित होता है

अल्ट्रावायलेट किरणों से सुरक्षा

Thin Beard Styles for Nice Beard Look

चेहरे पर भरी पूरी दाढ़ी हो तो सूरज से आने वाली 95 फीसदी तक अल्ट्रावायलेट किरणें रुक जाती हैं. ये यूवी किरणें त्वचा मे कैंसर पैदा करने का कारण भी बन जाती हैं. इस तरह दाढ़ी करती है त्वचा की दोहरी रक्षा.

अस्थमा और एलर्जी से मिलती है राहत

जिन लोगों को मौसम के बदलने पर और धूल या किसी खास पौधे के परागकणों से एलर्जी होती है, उन्हें भी दाढ़ी कुछ आराम पहुंचा सकती है. दाढ़ी के बाल एक प्राकृतिक फिल्टर का काम करते हैं और नाक के बालों की तरह कई एलर्जी पैदा करने वाले तत्वों को नाक के भीतर जाने से रोकते हैं.

सदा बने’ रहें जवान!

smart Beard Styles

चेहरे पर बढ़ती उम्र का सबूत देती हैं झुर्रियां. दाढ़ी रख लेने से जब चेहरे पर सूरज की किरणें कम पड़ती हैं तो झुर्रियां भी कम आती हैं. दाढ़ी की ये कितनी मजेदार बात है कि इसे रखने से आप ज्यादा कोमल दिखते हैं, और ज्यादा उम्र तक जवान भी लगते हैं.

दाग धब्बो से सुरक्षा

Evergreen Chinstrap Beard Styles for Men

त्वचा पर ब्लैक हेड्स और कई अन्य परेशानियां होने में भी शेविंग के कारण होने वाली इनग्रोथ, रेजर की चोटों का हाथ होता है. दाढ़ी रखने से त्वचा भी ठीक रहेगी और रोजमर्रा की चोट और खरोंचों से भी छुटकारा मिलेगा.

रक्षा कवच

गर्मियों में कड़कती धूप से सुरक्षा करने के तो सर्दियों में गर्मी देने के काम आती है दाढ़ी. चेहरे पर तो और कोई ऊनी चीज पहनी नहीं जाती. ऐसे में दाढ़ी आपकी त्वचा की हर मौसम में रक्षा करती है.

संक्रमण से बचाने वाली

बैक्टीरिया कई तरह के संक्रमण देते हैं. बालों को काटने से कई बार इनग्रोथ होती है और कई बार बाल की जड़ों में भी बैक्टीरिया अपना घर बना लेते हैं. यह त्वचा पर काले धब्बों के रूप में दिखता है. चेहरे पर बाल उगे होंगे तो ऐसे मे बैक्टीरिया चेहरे पर नहीं रुक पाते और कोई स्कीन प्रॉब्लम भी नहीं होती.

प्राकृतिक नमी

त्वचा के सूखेपन का भी यह बढ़िया जवाब है. हवा और ठंडक से चेहरे की त्वचा को बचाने वाली दाढ़ी उसे सूखने नहीं देती. और क्रीम का खर्च भी बचेगा.

वक्त बचेगा

save time web design easy transfer

सन 1972 में अमेरिका की बॉस्टन यूनिवर्सिटी के त्वचाविज्ञानी डॉक्टर हर्बर्ट मेस्कॉन ने बताया था कि एक औसत व्यक्ति अपने जीवनकाल में करीब 3,350 घंटे शेविंग करने में खर्च करता है. इसका मतलब हुआ कि आपने जीवन के 139 दिन यानि पांच महीने का समय जो आप किसी और जरूरी काम में लगा सकते हैं.

Leave a Reply