Home विचार कामयाब होने की कीमत

कामयाब होने की कीमत

SHARE
kamyab hone ki kimat

दोस्तों आज हम बात करेंगे सफतला के बारे में अगर आपको सफ़लता चाहिए तो आपको उसकी कुछ न कुछ कीमत ज़रूर चुकानी पड़ती है और वह कीमत होती है हार्डवर्क और आपका टाइम, यदि आपको अपने जीवन में अपने गोआल को हासिल करना है तो लगातार टाइम लगाना होगा और लगातार उनपर काम करना होगा तभी आप अपने जीवन में कामयाब हो पाएँगे।

आज के टॉपिक को डिस्कस करने से पहले एक प्रेरक कहानी के बारे में जान लेते हैं और वो कहानी है बाज़ के एक झुण्ड कि बाज़ यानि ईगल, ईगल अपनी ऊँची उडान और तेज़ रफ़्तार के लिए जाना जाता है और अपने शिकार के लिए पहचाना जाता है।

बाजों का एक झुण्ड जंगल में रहा करता था वह रोज़ सुबह शिकार के लिए जंगल जाता और शाम को वापिस जंगल आ जाता, लेकिन एक सुबह जब वह झुण्ड शिकार के लिए गया वह एक ऐसी जगब पहुंचा जहाँ एक तालाब था और उस तालाब में बहुत सारी मछलियाँ थी और तालाब गहरा भी नहीं था मछलियाँ बहुत आराम से पकड़ी जा सकती थी और ईगल को उड़ने की भी कोई ज़रुरत नहीं थी वहां पर ज़िन्दगी जीने के लिए सारी चीज़े मौजूद थी तो ईगल के ग्रुप ने तय किया की अब वह यहीं रहेंगे, लेकिन उनमे से एक बुज़ुर्ग ईगल ने कहा की हमें वापिस जंगल में चले जाना चाहिए।

लेकिन बाकि के ईगल ने कहा हम सब यहीं रहेंगे क्योंकि यहाँ ज़िन्दगी जीने के लिए सब चीज़े मौजूद है बुज़ुर्ग ईगल ये सुनकर वापिस जंगल चला गया इस तरह से काफी दिन गुजरने लगे फिर उस बुज़ुर्ग बाज़ ने सोचा की क्यों ना अपने दोस्तों से मिलने जाये, जब वह बुज़ुर्ग बाज़ उस जगह अपने दोस्तों से मिलने पहुँचता है तो उसे देखकर काफी हैरानी हुई सारे बाज़ मरे हुए पड़े थे लेकिन उनमे से एक बाज़ घायल था और अपनी ज़िन्दगी की आखरी सांसे जी रहा था। तो बुज़ुर्ग ईगल ने उससे पूछा की यहाँ ऐसा क्या हुआ की सारे बाज़ मर गएँ तो उस बाज़ ने बताया कि यहाँ से शेरो का एक झुण्ड गुजरा और उसने हमारे ऊपर हमला कर दिया और जब हमने उड़ने की कोशिश की तो हम उड़ नहीं पायें क्योंकि हमने बहुत दिनों से उड़ने की प्रेक्टिस ही नहीं की थी।

बुज़ुर्ग ईगल को ये बात जानकर बहुत दुःख हुआ और वह दोबारा से जंगल चला गया इस स्टोरी से हमें ये पता चलता है कि अगर हमने अपने जीवन में कोई चीज़ हासिल कर ली है तो उसे बरक़रार रखने के लिए भी हमें लगातार काम करना पड़ेगा और अगर और ज्यादा अच्छा करना है तो बेस्ट एफ्फोर्ट लगाना ही पड़ेगा।

हम लोग अपने जीवन में कामयाब होने के लिए  15 से 18 साल तक पढाई करते हैं जब हम अपने गोआल को हासिल कर लेते हैं तो उसके बाद अचानक एफ्फोर्ट लगाना बंद कर देते हैं लेकिन जीवन में कामयाब होना है तो लगातार आपको एफ्फोर्ट लगाना ही पड़ेगा।

चलिए अब कुछ पॉइंट पर चर्चा कर लेते हैं

आप जो भी काम करते हैं उसको बेहतर से बेहतर करने की कोशिश करें और अपना बेस्ट एफ्फोर्ट लगायें क्योंकि एवेरेज़ एफ्फोर्ट तो सभी लगा रहे हैं, लेकिन आपको अपने जीवन में कामयाब होना है तो बेस्ट एफ्फोर्ट लगाना ही पड़ेगा।

आप जिस फील्ड में भी काम करते हैं उससे सम्बंधित ट्रेनिंग हमेशा करते रहिये क्योंकि आप उन ट्रेनिंग को नहीं करेंगे तो आपको पता नहीं चलेगा कि आपके उस फील्ड में क्या नई-नई चीज़े आ रही हैं या क्या नई-नई चीज़े डेवेलप हो रही हैं इसलिए आप जो भी बिज़नेस करते हैं उससे सम्बंधित ट्रेनिंग लेते रहिये।

आप जिस फील्ड में भी काम करते हैं उससे रिलेटेड इनफार्मेशन हमेशा गेन करते रहिये।

अपने दिमाग को हमेशा ट्रेनिंग देते रहिये माइंड एक तरह की मसल्स हैं अगर आपको इसे एक्टिव रखना है तो इसे रोज़ ट्रेनिंग करना पड़ेगा जिस तरह से कोई इन्सान अपनी बॉडीबिल्डिंग करता है अगर उसे अपनी बॉडी को मेंटेन करना हैं तो उसे रोज़ जिम करना ही पड़ेगा इसी तरह से ब्रेन को भी अधिक एक्टिव रखना है तो इसे रोज़ काम देना पड़ेगा तभी ये और ज़यादा एक्टिव रहेगा।

हमेशा दुसरो की गलतियों से सीखो ज़रूरी नहीं है की आपको कुछ सिखने के लिए खुद गलती करनी पड़े और फिर सीखें यदि आपको लगता है किसी ने कोई गलती की और वह उस गलती की वजह से फ़ैल हो गया तो आप उन गलतियों को दोहराएँ नहीं।

तो हमने सिखा कभी भी अपने आपको स्टॉप नहीं करना हैं पढने या सिखने के लिए, कामयाब होने के लिए हमेशा एफ्फोर्ट लगते रहना हैं तभी हमें जीवन में कामयाबी हासिल हो सकती है।

Leave a Reply