Home खेल ब्रिटिश पत्रकार ने वीरेंद्र सहवाग को दिया एक बड़ा चैलेंज

ब्रिटिश पत्रकार ने वीरेंद्र सहवाग को दिया एक बड़ा चैलेंज

SHARE
sehwag piers

नई दिल्ली: रियो ओलिंपिक में भारत के प्रदर्शन पर कटाक्ष कर चर्चा में आए ब्रिटिश पत्रकार पियर्स मॉर्गन एक बार फिर से चर्चा में हैं उन्होंने क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग को ट्वीट के जरिए चुनौती दे दी है कि भारत के ओलिंपिक गोल्ड जीतने से पहले इंग्लैंड वन डे वर्ल्ड कप जीतेगा और यदि ऐसा नहीं हुआ तो वह 10 लाख रुपये दान करेंगे|

पियर्स मॉर्गन के इस ट्वीट का सहवाग ने सीधे तौर पर तो कोई भी जवाब नहीं दिया है पर परोक्ष रूप से कहा है, कि कुछ लोगों की किस्मत कितनी ज्यादा खराब होती है कि वे अप्लाई करते रहते हैं पर उन्हें कोई भी रिप्लाई नहीं करता|

 

दरअसल, मंगलवार को पाकिस्तान के खिलाफ ट्रेंट ब्रिज स्टेडियम में खेले गए मैच मे  हुए वन डे मैच में इंग्लैंड क्रिकेट टीम ने विश्व रिकॉर्ड बनाते हुए तीन विकेट पर 444 रन बनाए और पाक टीम को बहुत ही आसानी से हरा दिया| यह अंतरराष्ट्रीय एकदिवसीय क्रिकेट के इतिहास का सबसे बड़ा स्कोर है इंग्लैंड की इस उपलब्धि से पियर्स उत्साहित और 2019 में होने वाले विश्वकप में इंग्लैंड की जीत के लिए आशान्वित भी नजर आ रहे हैं|

ऐसे शुरु हुआ विवाद

रियो ओलिंपिक के बाद ही मॉर्गन ने ट्वीट किया था, सवा अरब की जनसंख्या वाला ये देश सिर्फ 2 मेडल्स जीतकर ही खुशी मना रहा है यह कितना शर्मनाक है?’

 

मॉर्गन के इस ट्वीट का जवाब देते हुए वीरेंद्र सहवाग ने लिखा, कि हम हर छोटी खुशी का  मजा भी लेते हैं लेकिन इंग्लैंड, जिसने क्रिकेट की अभी शुरुआत  की, वह आज तक वर्ल्ड कप तो जीत नहीं  सका और फिर भी वर्ल्ड कप खेलता है क्या यह शर्मनाक नहीं है?’

अब तक वर्ल्ड कप नहीं जीत सका इंग्लैंड

क्रिकेट की शुरुआत तो इंग्लैंड में ही हुई थी लेकिन अब तक इंग्लैंड ने क्रिकेट का एक भी वर्ल्ड कप नहीं जीता है शुरुआती तीन विश्वकप (1975, 1979, 1983) के अलावा 1999 के विश्वकप का आयोजन भी इंग्लैंड में ही हुआ था 2019 का विश्वकप इंग्लैंड और वेल्स में संयुक्त रूप से आयोजित किया जाएगा और इंग्लैंड अब तक तीन बार 1979, 1987, और 1992 में वर्ल्ड कप फाइनल तक तो पहुंचा है लेकिन जीत नहीं सका

ऐसा है वर्ल्डकप में भारत का रिकॉर्ड

भारत में अभी तक 3 विश्वकप मुकाबलों का आयोजन किया गया है और 2023 का विश्वकप भी भारत में ही प्रस्तावित है कुल 11 में से तीन विश्वकप में ही भारत फाइनल तक पहुंचा है साल 1983 में कपिल देव की कप्तानी में भारत ने विश्वकप जीता था और 2011 में महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में भारत ने दूसरा विश्वकप भी अपने नाम करा लिया  इसके अलावा साल 2003 के विश्वकप फाइनस में भारत को ऑस्ट्रेलिया से हार का सामना करना पड़ा था

Leave a Reply